YES बैंक पर कार्रवाई

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा YES बैंक पर पाबंदी की कार्रवाई की गई. जिसके बाद ग्राहकों में बेचैनी बढ़ गई है. लेकिन सरकार की तरफ से बार बार बैंक के ग्राहकों को उनका पैसा सुरक्षित रहने का भरोसा दिया जा रहा है. इस बीच वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया है कि यस बैंक द्वारा नियमों का पालन नहीं किया जा रहा था. बैंक ने जोखिम भरे क्रेडिट निर्णय लिए थे.

लोन दिया जो डिफॉल्ट हुए

निर्मला सीतारमण के मुताबिक YES बैंक ने अनिल अंबानी, एसेल ग्रुप, डीएचएफएल, वोडाफोन जैसी कंपनियों को लोन दिया जो डिफॉल्ट हुए हैं. ये सभी मामले 2014 से पहले यानी यूपीए शासनकाल के हैं. निर्मला सीतारमण ने बताया कि YES बैंक के मामले को लेकर वह मई 2019 के बाद से ही आरबीआई के संपर्क में थीं. वहीं सितंबर 2019 से यस बैंक पर सेबी की नजर है.

बोर्ड री-स्‍ट्रक्‍चरिंग प्‍लान

निर्मला सीतारमण ने बताया कि साल 2017 से आरबीआई, YES बैंक पर निगरानी कर रहा था. वहीं 2018 में केंद्रीय बैंक ने YES बैंक में गड़बड़ी की पहचान कर ली थी, जबकि 2019 में YES बैंक पर 1 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था. निर्मला सीतारमण के मुताबिक एसबीआई ने हिस्‍सेदारी खरीदने में दिलचस्‍पी दिखाई है. उन्‍होंने बताया कि नया बोर्ड री-स्‍ट्रक्‍चरिंग प्‍लान के बाद टेकओवर करेगा. हालांकि खबरों के मुताबिक आरबीआई ने यस बैंक के डायरेक्‍टर बोर्ड को भंग कर दिया था. इसके बाद एसबीआई के सीएफओ प्रशांत कुमार को एडमिनिस्‍ट्रेशन की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. इस बीच, आरबीआई ने YES बैंक के लिए री-स्‍ट्रक्‍चरिंग प्‍लान का ऐलान किया है. जानकारी है कि आरबीआई की वेबसाइट पर यह प्‍लान अपलोड कर दिया गया है.

वही आरबीआई की इस कार्रवाई के बाद से बढ़ी खाताधारकों की चिंता को लेकर निर्मला सीतारमण ने संसद परिसर में भरोसा दिया है कि उनका पैसा डूबने नहीं दिया जाएगा. निर्मला सीतारमण ने कहा कि बैंक के खाताधारकों का पैसा सुरक्षित है. खाताधारकों को चिंतित होने की जरूरत नहीं है. वित्त मंत्री ने कहा कि रिजर्व बैंक के अधिकारी समस्या का समाधान निकालने में जुटे हुए हैं. वित्त मंत्री के मुताबिक पिछले कुछ महीनों से हम सभी स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं. जो कदम उठाए गए हैं वो जमाकर्ताओं, बैंक और अर्थव्यवस्था के हित में हैं. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.