चोटिल होकर वर्ल्ड कप 2019 से बाहर ऑलराउंडर विजय शंकर की जगह बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को टीम में जगह दी गई है. मयंक अग्रवाल बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं. वह घरेलू क्रिकेट कर्नाटक की ओर से खेलते हैं. मयंक अभी तक वनडे डेब्यू नहीं कर पाए लेकिन 2018 में उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू करने का मौका मिला था जहां पर उन्होंने दो अर्धशतक लगाए थे. 

कौन है मयंक अग्रवाल

अगर मयंक अग्रवाल की बात की जाए तो वह एक सलामी बल्लेबाज हैं दाएं हाथ के मयंक अग्रवाल 2017-18 के घरेलू सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रह चुके हैं. उनके बल्ले से 2141 रन निकले थे. उनके प्रदर्शन को देखते हुए पहली बार उन्हें साल 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में चुना गया था. हालांकि आईपीएल 2019 में उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा था. मयंक ने 13 मैच में दो अर्धशतक को की मदद से केवल 232 रन ही बनाए थे. 

mayank

बीसीसीआई ने बताया है कि बाएं पैर की विजय की एड़ी में नॉन डिस्प्लेस्ड फ्रैक्चर हुआ है इसे ठीक होने में कम से कम 3 हफ्तों का समय लगेगा. टीम इंडिया में बतौर ऑलराउंडर शामिल किए गए विजय के अंगूठे की चोट के चलते अब वह एक भी मैच नहीं खेल पाएंगे, विजय शंकर को चोट नेट पर प्रैक्टिस करते हुए लगी थी. जब जसप्रीत बुमराह की एक तेज गेंद सीधे आकर शंकर के पैरों के अंगूठे में लगी थी. जिस कारण विजय शंकर रविवार को इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए मैच का हिस्सा भी नहीं बन पाए थे.

वही इससे पहले शिखर धवन भी अंगूठे में चोट के कारण वर्ल्ड कप से बाहर हो गए थे. धवन की जगह विकेटकीपर ऋषभ पंत को मिली थी. शिखर धवन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच के दौरान 9 जून को चोटिल हुए थे जिस कारण वह पाकिस्तान के खिलाफ मैच भी नहीं खेल पाए थे.

विवादों में घिरे थे विजय

आपको बता दें कि विजय शंकर को जब वर्ल्ड कप की टीम में चुना गया था तब जमकर बवाल हुआ था. अंबाती रायडू जैसे अनुभवी खिलाड़ी को दरकिनार करते हुए शंकर को टीम में शामिल किया गया था उसके बाद 3D खिलाड़ी बताते हुए चयनकर्ताओं ने विजय शंकर को सही ठहराने की कोशिश की थी हालांकि मौजूदा विश्वकप में विजय का प्रदर्शन कोई खास नहीं रहा है. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.