प्रदर्शन बना हिंसक

नागरिकता संशोधन कानून यानी CAA को लेकर इन दिनों देश में बवाल मचा हुआ है. इस मुद्दे पर हो रही राजनीति भी अपने चरम पर है. ऐसे में यूपी की राजधानी लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विरोध-प्रदर्शन ने हिंसक रूप धारण कर लिया.

फूंकी पुलिस चौकी

नागरिकता संशोधन कानून पर लखनऊ के कई इलाकों में हिंसा फैल गई. इस दौरान आगजनी की खबरें भी सामने आई. प्रदर्शनकारियों ने लखनऊ के डालीगंज और हजरतगंज इलाके में जमकर उत्पात मचाया. मीडिया में चल रही खबरों की मानें तो उपद्रव के दौरान दो पुलिस चौकी भी जला दी गई. जबकि बाहर खड़े वाहनों को फूंका गया.  साथ ही इलाके में तोड़फोड़ और पथराव किया गया.

पुलिस ने लिया एक्शन

मामला बढ़ता देख पुलिस ने भी एक्शन लिया. इस दौरान भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागे और लाठीचार्ज करना पड़ा. बताया जा रहा है कि प्रदर्शन इतना ज्यादा भयानक था कि लखनऊ में उपद्रवियों ने मीडिया के ओबी वैन में भी आग लगा दी. वही पश्चिमी यूपी के संभल में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प के बाद इंटरनेट बंद कर दिया गया.

जमकर हुई तोड़फोड़

बताया जा रहा है कि राजधानी लखनऊ के डालीगंज इलाके में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने पथराव और तोड़फोड़ की. विरोध प्रदर्शन इतना ज्यादा हिंसक हो गया था कि ठाकुरगंज में फायरिंग भी हुई. हालांकि इसमें किसी तरह के नुकसान की खबर अभी तक सामने नहीं आयी है. प्रदर्शन के दौरान दो पुलिस चौकी को भी निशाना बनाया गया.

चौकी फूंकने की कड़ी में मदेयगंज के बाद ठाकुरगंज स्थित सतखंडा चौकी को आग के हवाले किया गया. चौकी के बाहर खड़े वाहनों को भी फूंक दिया गया. बताया जा रहा है कि इससे पहले लखनऊ में एसपी और कांग्रेस के नेता विरोध प्रदर्शन करते हुए विधानसभा के मुख्य गेट पेर चढ़ गए. जिसके बाद किसी तरह से पुलिस ने उन्हें वहां से हटाया. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा