5 नवंबर तक स्कूल बंद

राजधानी दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के कारण लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. जिसके बाद अब सरकार ने दिल्ली से सभी स्कूलों को बढ़ते प्रदूषण के कारण 5 नवंबर 2019 तक बंद रखने का फैसला लिया है. दूसरी तरफ उच्चतम न्यायालय द्वारा गठित किए गए पैनल ने दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में जन स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा की है. साथ ही साथ 5 नवंबर 2019 तक सभी निर्माण कार्यों पर रोक लगाने का फैसला लिया गया है.

दिल्ली में बढ़ता प्रदूषण

प्रदूषण के कारण पटाखे चलाने पर भी प्रतिबंध लगाया गया है. पर्यावरण प्रदूषण प्राधिकरण ने प्रदूषण को बेहद गंभीर श्रेणी में पहुंचने पर ठंड के दौरान पटाखे चलाने पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है.

प्रदूषण को लेकर आरोप

प्रदूषण पर राजनीति भी अपने चरम पर है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानी में बढ़ते प्रदूषण के लिए हरियाणा और पंजाब सरकार का जिम्मेदार ठहराया है. साथ ही साथ सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए पंजाब और हरियाणा सरकार की आलोचना की है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ‘खट्टर और कैप्टन सरकारें अपने किसानों को पराली जलाने पर मजबूर कर रहीं हैं जिसकी वजह से दिल्ली में भारी प्रदूषण है. कल पंजाब और हरियाणा भवन पर लोगों ने प्रदर्शन कर वहां कगी सरकारों के प्रति अपना रोष प्रकट किया’.

मास्क वितरित करना शुरू

ट्वीट में सीएम केजरीवाल ने लिखा कि ‘पड़ोसी राज्यों में पराली के धुएं के कारण दिल्ली गैस चैंबर में बदल गई है. यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हम खुद को इस जहरीली हवा से बचाएं. प्राइवेट और सरकारी स्कूलों के माध्यम से, हमने आज 50 लाख मास्क वितरित करना शुरू कर दिया है. मैं सभी दिल्लीवासियों से आग्रह करता हूं कि जब भी जरूरत हो, उनका उपयोग करें’. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा