जनता कर्फ्यू के दिन हमला

कोरोना वायरस से बचने के लिए जनता कर्फ्यू के दिन शाहीन बाग से एक बड़ी खबर सामने आ रही है. राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में प्रदर्शन स्थल के पास पेट्रोल बम से हमला होने की खबर है. नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ तीन महीने से भी ज्यादा समय से धरना पर बैठे लोगों का आरोप है कि प्रदर्शन स्थल पर पेट्रोल बम फेंका गया है.

फेंका गया पेट्रोल बम

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार शाहीन बाग में सुबह 8 बजे दो बाइक सवार चेहरा ढक कर आए और चाय की दुकान पर दो पेट्रोल बम मारकर फरार हो गए. घटना के बाद से पुलिस सीसीटीवी की मदद से आरोपियों को तलाश रही है.

पुलिस कर रही कार्रवाई

जानकारी है कि घटना के समय शाहीन बाग में कम संख्या में प्रदर्शनकारी बैठे हुए थे. बम की घटना कालिंदी कुंज के रास्ते पर हुई है. बताया जा रहा है कि हमलावर ओखला के रास्ते आए थे. खबर ये भी है कि एक बोतल से विस्फोटक सामान भी बरामद किया गया है.

आपको बता दें कि शाहीन बाग में प्रोटेस्ट तो चल रहा है लेकिन इसमें में सिर्फ 5 लोगों को धरने पर बैठने की इजाजत मिली है. जूते चप्पलों को अलग रखा गया है साथ ही जरूरी सुरक्षा के उपाय भी किए गए हैं. खबर है कि महिलाओं को हमजत सूट पहनने को कहा गया. इसके बारे में बताया जाए तो हमजत सूट से बॉडी पूरी तरह ढकी हुई होती है.

वही खबर है कि इससे पहले दिल्ली पुलिस ने इंडिया इस्लामिक सेंटर में शाहीनबाग के प्रदर्शनकारियों के साथ मिलकर बैठक की थी. यहां पर दिल्ली पुलिस ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को देखते हुए लोगों से प्रदर्शन खत्म करने की अपील की थी. इस बैठक में डीसीपी साउथ ईस्ट समेत दिल्ली पुलिस के कई सीनियर ऑफिसर भी मौजूद थे. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.