इन दिनों पाकिस्तान को लेकर काफी तनातनी का माहौल चल रहा है. ऐसे में गृह मंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऐसे फैसले नहीं लेते हैं जो लोगों को अच्छे लगे. बल्कि वह ऐसे फैसले लेते हैं जो कि लोगों के लिए अच्छे हो और इसकी राजनीतिक कीमत चुकाने की प्रधानमंत्री में हिम्मत भी है और जज्बा भी है. अमित शाह की तरफ से यह सब बातें पंडित दीनदयाल उपाध्याय पैट्रोलियम यूनिवर्सिटी में कहीं गई हैं.

अमित शाह- हम शांति चाहते हैं

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि उरी हमले के बाद भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक की और दुनिया को यह बात का एहसास दिलाया कि हम शांति चाहते हैं. लेकिन अपने देश पर खतरे को भी सहन नहीं कर सकते हैं. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि पुलवामा हमले के बाद भारत की तरफ से एयर स्ट्राइक की गई और बताया कि कोई भी हमारी सीमाओं का उल्लंघन नहीं कर सकता है.

अमित शाह- PM ने विजन रखा है

पंडित दीनदयाल उपाध्याय पैट्रोलियम यूनिवर्सिटी में अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक विजन रखा है. उनका विजन यह है कि भारत  को अब नीचा लक्ष्य नहीं रखना चाहिए. 2022 तक दुनिया की टॉप 3 अर्थव्यवस्था में भारत को पहुंचाने का लक्ष्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा रखा गया है. इसके लिए माइक्रो प्लानिंग करके देश आगे बढ़ रहा है. उन्होंने कहा कि आने वाला जमाना पर्यावरण का जमाना है. अगर हम आने वाले समय में ग्लोबल वार्मिंग की चिंता नहीं करेंगे तो हम दुनिया को स्वस्थ और सुंदर नहीं देख पाएंगे.

‘2014 में अर्थव्यवस्था थी खस्ताहाल’

पंडित दीनदयाल उपाध्याय पैट्रोलियम यूनिवर्सिटी में अमित शाह के द्वारा कहा गया कि 2014 में देश की अर्थव्यवस्था खस्ताहाल थी. लेकिन आज 2019 में भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है. आज हमारी विकास दर 7% से ऊपर है और महंगाई जो 9% के आसपास रहती थी उसे 3% के नीचे ले जाने में हमें सफलता मिली है.