उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर का मामला उठाया है. उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू की तरफ से कहा गया है कि अब पाकिस्तान से सिर्फ पीओके पर बात होगी. कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है. हम युद्ध नहीं चाहते, हम शांतिप्रिय राष्ट्र हैं.

सिर्फ पीओके पर होगी बात

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने यह सब बातें विशाखापत्तनम में नौसेना विज्ञान और प्रौद्योगिकी प्रयोगशाला के स्वर्ण जयंती समारोह को संबोधित करते हुए कहा है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से अब केवल पीओके पर ही बात की जाएगी. उपराष्ट्रपति ने कहा कि कश्मीर को लेकर पाकिस्तान से किसी भी तरह से बातचीत नहीं की जाएगी कश्मीर भारत का हिस्सा है उन्होंने कहा कि हम लोग युद्ध नहीं चाहते हैं हम अमन पसंद नागरिक हैं.

रक्षा मंत्री ने भी दिया था बयान

इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की तरफ से भी पाकिस्तान की बौखलाहट पर चेतावनी देते हुए कहा गया था कि पाकिस्तान आतंकवाद फैलाना बंद कर दे. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 18 अगस्त को हरियाणा में अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर कहा था कि पाकिस्तान आतंकवाद फैलाना बंद कर दे, नहीं तो हम किसी भी तरह के हालात से निपटने के लिए बिल्कुल तैयार हैं. इस दौरान उन्होंने कहा था कि अगर भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत होती है तो वह केवल पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के मुद्दे पर होगी.

‘एयर स्ट्राइक को पाक ने किया स्वीकार’

रक्षा मंत्री ने कहा कि कुछ दिनों पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि भारत बालाकोट एयर स्ट्राइक से बड़े हमले की तैयारी में है जिसका मतलब यह निकलता है कि पाकिस्तान मानता है कि भारत ने पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक किया था. राजनाथ सिंह की तरफ से कहा गया था कि ‘अनुच्छेद 370 में परिवर्तन राज्य में विकास करने के लिए किया गया है. पाकिस्तान दुनिया का दरवाजा खटखटा रहा है कि भारत ने गलत किया है. पाकिस्तान के साथ बातचीत तभी संभव है जब पाकिस्तान आतंकवाद का समर्थन बंद करना बंद कर दे. अगर भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत होती है तो वह केवल पाक अधिकृत कश्मीर पर होगी’.

अमित शाह का बयान

आपको बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की तरफ से जम्मू कश्मीर पुनर्गठन बिल पर लोकसभा में बहस के दौरान यह बात कही गई थी कि ‘जब मैं कब जम्मू-कश्मीर बोलता हूं तो उसमें पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर भी आता है और अक्साई चीन भी आता है. क्या कांग्रेस पीओके को भारत का हिस्सा नहीं मानती. हम इसके लिए जान दे देंगे’. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा