जम्मू कश्मीर सरकार ने अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों को आतंकी हमले के खतरे के मद्देनजर तत्काल प्रभाव से घाटी छोड़ने की एडवाइजरी जारी की है. जिसके बाद अब कांग्रेस ने सरकार पर तीखा हमला बोला है और केंद्र सरकार पर कश्मीर में डर का माहौल बनाने का आरोप लगाया है.

‘गृह मंत्रालय के आदेश ने लोगों को डराया’

इस मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि गृह मंत्रालय के आदेश ने लोगों को डरा दिया है. आज तक कभी भी श्रद्धालु और पर्यटकों को इस तरह घाटी छोड़ने को नहीं कहा गया. सरकार यह कहते हुए कि कश्मीर बाहरी लोगों के लिए असुरक्षित नहीं है घृणा का माहौल बना रही है. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सरकार के इस आदेश की हम निंदा करते हैं.

सुरक्षाबलों की संख्या में बढ़ोतरी

दरअसल घाटी में लगातार सुरक्षाबलों की संख्या में बढ़ोतरी की जा रही है इस बीच अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों को तुरंत घाटी छोड़ने की एडवाइजरी को बिल्कुल अप्रत्याशित माना जा रहा है. इससे पहले कभी भी तीर्थयात्रियों और पर्यटकों को इस तरह से घाटी छोड़ने के लिए नहीं कहा गया था. यहां तक कि पहले भी आतंकवाद के साए में यात्रा चलती रही है. दूसरी तरफ सूत्रों के मुताबिक खबर है कि गृहमंत्री अमित शाह जम्मू कश्मीर दौरे पर जा सकते हैं. सूत्रों के अनुसार अमित शाह संसद सत्र के बाद 2 दिनों के लिए घाटी का दौरा कर सकते हैं. वह जम्मू में जा सकते हैं.

जारी है अटकलों का दौर आपको बता दें कि एक दिन पहले ही जम्मू-कश्मीर सरकार ने एडवाइजरी जारी कर अमरनाथ यात्री और पर्यटक को को जल्द से जल्द घाटी छोड़ने की सलाह दी थी. सरकार का यह आदेश घाटी में आतंकी हमले के खतरे को देखते हुए आया है. हालांकि सरकार के इस आदेश के बाद तमाम तरह की अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि जम्मू कश्मीर में जवानों की संख्या को बढ़ाया गया है. ऐसे में माना जा रहा है कि जल्द ही कुछ बड़ा देखने को मिल सकता है. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.