अभी कुछ दिनों पहले सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली के रिहायशी इलाकों के फुटपाथों से अतिक्रमण हटाने के निर्देश जारी किया था. SC के निर्देश में अतिक्रमण करने वालों को 15 दिन का नोटिस देकर जहग खाली कराने के लिए कहा गया था. जिसके बाद अब दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद रेहड़-पटरी वालों में खौफ का माहौल है.

केजरीवाल का ट्वीट

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस मामले में कई ट्वीट किए. उन्होंने पहले ट्वीट में लिखा ‘आज पूरी दिल्ली से बहुत सारे रेहड़ी-पटरी वाले मुझसे मिलने आए. सबमें बेहद खौफ है कि अब उनकी रोजी चली जाएगी. हम चाहते हैं कि दिल्ली की सड़कें साफ हों. लेकिन दुनिया में ऐसा कोई शहर नहीं जहां रेडी पटरी वाले ना हों. किसी भी शहर की अर्थव्यवस्था में ये लोग अहम योगदान देते हैं’.

‘जल्द निकलेगा समाधान’

ट्वीट करने के सिलसिले में सीएम ने आगे लिखा ‘इनकी रोजी बचाना भी हम सबकी जिम्मेदारी है. मैं वकीलों से बात कर रहा हूं कि इसमें क्या रास्ता निकल सकता है. दिल्ली सरकार सुप्रीम कोर्ट के फैसले की भावना और लाखों रेहड़ी-पटरी वालों के रोजगार, दोनों का ध्यान रखते हुए जल्द ही इसका समाधान निकालेगी’.

‘दोबारा कोर्ट जाएगी सरकार’

सीएम केजरीवाल ने अगले ट्वीट में लिखा कि ‘जरूरत पड़ेगी तो सरकार दोबारा कोर्ट भी जाएगी.’ अब देखने वाली बात यह है कि दिल्ली में पार्किंग व्यवस्था को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश जारी किए हुए हैं. दिल्ली के सभी नगर निगमों और कैंटोनमेंट बोर्ड को निर्देश जारी किया गया था कि पैदल चलने वालों के लिए फुटपाथ बनाए गए हैं उस पर अतिक्रमण करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि दिल्ली मेंटिनेंस एंड मैनेजमेंट ऑफ पार्किंग प्लेसेस 2019 को 30 सिंतबर तक लागू किया जाए. इसे लागू करने के बाद सभी अथॉरिटी यह देखेंगे कि रूल्स को जमीन पर उतारने के लिए किस तरह के कदम उठाए जाएं. दिल्ली सरकार किसी भी बिल्डिंग को बनाने की इजाजत देने से पहले यह सुनिश्चित कर ले कि अगले 25 साल तक पार्किंग की व्यवस्था कैसी होगी. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा