भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. उनका निधन एम्स में 66 साल की उम्र में हुआ है. दिल्ली के एम्स अस्पताल में उन्हें 9 अगस्त को भर्ती करवाया गया था. उनको काफी समय से सांस लेने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था.

अरुण जेटली कोे दी श्रद्धांजलि

अरुण जेटली के निधन के बाद बीजेपी में शोक की लहर दौड़ गई है. वहीं बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली के निधन के बाद बीजेपी समेत विपक्ष के सभी नेताओं ने जेटली के घर पहुंच कर उनको श्रद्धांजलि दी.

अमित शाह ने दी श्रद्धांजलि

इस कड़ी में अमित शाह ने भी उनके घर पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की.

‘जेटली थे कद्दावर नेता’

बीजेपी वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी भी उनके घर पहुंचे. यहां पर अरुण जेटली का शव अंतिम दर्शन के लिए रखा गया था. इस दौरान बीजेपी वरिष्ठ नेता आडवाणी ने जेटली को याद करते हुए कहा कि जेटली एक कद्दावर नेता थे और बेहतरीन प्रशासक तो थे ही साथ ही कानून का ज्ञान में उन में चार चांद लगा देता था. अपने लंबे राजनीतिक जीवन में अरुण जेटली ने लालकृष्ण आडवाणी के साथ काफी समय बिताया है और काफी काम किया है.

राजनाथ सिंह ने रद्द किया दौरा

इस कड़ी में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपना लखनऊ दौरा बीच में ही रद्द कर दिया और वह दिल्ली पहुंचकर अरुण जेटली को श्रद्धांजलि देने पहुंच गए.

मनीष सिसोदिया ने दी श्रद्धांजलि

आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी जेटली के घर पहुंच कर उनको श्रद्धांजलि दी.

विपक्ष के नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

अरुण जेटली को श्रद्धांजलि देने के लिए उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक भी उनके घर पहुंचे. साथ में बीजेपी कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी अरुण जेटली को श्रद्धांजलि दी. इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा, आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम एन चंद्रबाबू नायडू और राकांपा नेता शरद पवार समेत कई नेताओं ने अरुण जेटली को उनके घर पहुंच कर श्रद्धांजलि अर्पित की. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा