9 बजे 9 मिनट

देश में इन दिनों कोरोना के कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक देशवासियों से रविवार रात 9 बजे 9 मिनट के लिए दीया, मोमबत्ती या फिर अपने फोन की टॉर्च को जलाने का अनुरोध किया था. जिसके बाद लोगों ने प्रधानमंत्री की अपील को स्वीकार करते हुए अपने अपने घरों में दीया जलाया. इस दौरान लोगों ने अपने घरों में लाइट्स को बंद कर दिया और अंधकार के खिलाफ एकजुटता का संदेश दिया.

राष्ट्रपति ने जलाया दीया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ये अपनी लोगों को कोरोना वायरस के खिलाफ एकजुट होने के लिए की थी. प्रधानमंत्री की तरफ से कहा गया था कि हम सब को मिलकर कोरोना को अंधकार से निकालकर उजाला दिखाना है. ऐसे में प्रधानमंत्री के अनुरोध को स्वीकार करते हुए लोगों ने अपने अपने घरों में दीया जलाया और एक बार फिर से प्रकार का पर्व मनाया. आम लोगों के साथ साथ देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी दीया जलाया.

हुई अंधकार से जंग

रविवार रात 9 बजे प्रधानमंत्री की अपील के बाद लोगों ने अपने घरों को दीयों से सजा दिया. दीयों के साथ साथ लोगों ने अपने घरों में मोमबत्तियां लगाई और अपने हाथों में अपना मोबाइल फोन लेकर टॉर्च जलायी. इसके साथ ही देशवासियों ने एक बार फिर से बता दिया की कोरोना वायरस के खिलाफ इस लड़ाई में सब एक जुट हैं.

पीएम मोदी ने की थी अपील

कोरोनावायरस के अंधकार के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर देशवासियों ने रविवार रात 9 बजे 9 मिनट तक लाइटें बंद कर दीया, मोमबत्ती, टॉर्च और फोन की फ्लैश लाइट जलाई. प्रधानमंत्री ने रविवार को लोगों को याद दिलाने के लिए ट्वीट भी किया था. इससे पहले मोदी ने कोरोना संकट पर अपने तीसरे संबोधन में कहा था कि हमें 5 अप्रैल को अपनी महाशक्ति का जागरण करना है जिससे लॉकडाउन के दौरान घरों में मौजूद लोग खुद को अकेला महसूस न करें. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.