दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर

दुनिया भर में कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए हर कोई अपनी अपनी तरफ से इससे बचने की कोशिश में लगा हुआ है. पीएम मोदी ने जानलेवा कोरोना वायरस के खिलाफ सार्क (SAARC) देशों के एक साथ आने के आह्वान किया. जिसके बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने भी इस खतरे से निपटने के लिए क्षेत्रीय और वैश्विक दोनों मोर्चों पर समन्वित प्रयास करने की जरूरत पर बल दिया है.

पीएम मोदी का आह्वान

जानकारी के अनुसार पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने ट्वीट में कहा कि ‘कोरोना वायरस के खतरे से निपटने के लिए वैश्विक और क्षेत्रीय स्तर पर मिल-जुलकर प्रयास करने की जरूरत है. हम सूचित करते हैं कि स्वास्थ्य मामलों पर प्रधानमंत्री के विशेष सहायक सार्क सदस्य देशों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में हिस्सा लेने के लिए उपलब्ध रहेंगे’. पाकिस्तानी प्रवक्ता ने इससे पहले कहा था कि पाकिस्तान अपने पड़ोसियों की मदद के लिए तैयार है.

पाकिस्तान ने कही ये बात

पीएम मोदी के इस आह्वान का श्रीलंका और भूटान ने स्वागत किया है. कोरोना वायरस के दुनियाभर में बढ़ते मामलों को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस (COVID-19) को वैश्विक महामारी घोषित किया है.  इसके अलावा, अमेरिका ने भी कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए आपातकाल घोषित कर दिया है. 

भारत की तरफ से कही गई ये बात

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बड़ा प्रस्ताव देते हुए दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (SAARC) देशों से इस महामारी से निपटने के लिए चर्चा करने का आह्वान किया था. पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में कहा था कि ‘मैं कोरोना वायरस से लड़ने के लिए मजबूत रणनीति बनाने के लिए सार्क देशों के नेतृत्व से प्रस्ताव करता हूं. हम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये अपने नागरिकों को स्वस्थ रखने के लिए बातचीत करेंगे. हम एकजुट होकर दुनिया के सामने एक मिसाल पेश कर सकते हैं और इसे स्वस्थ रखने में योगदान दे सकते हैं’.

सकारात्मक प्रतिक्रिया

वही दूसरी तरफ पीएम मोदी ने इस प्रस्ताव पर भूटान के प्रधानमंत्री सकारात्मक प्रतिक्रिया जताई हुए जवाब दिया है. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि ‘इस क्षेत्र के सदस्य देशों होने के नाते ऐसे समय में हमें साथ आना चाहिए. छोटी अर्थव्यवस्थाएं बुरी तरह से प्रभावित हो रही हैं. मुझे कोई संदेह नहीं है कि आपके नेतृत्व में हम तत्काल और प्रभावी परिणाम देखेंगे’.

भारत, पाकिस्कतान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, नेपाल और श्रीलंका सार्क के सदस्य देश हैं. कोरोना वायरस से से प्रभावित लोगों की अगर आंकड़ों में बात की जाए तो स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, भारत में अब तक कोरोनावायरस के 83 मामले सामने आ चुके हैं. सबसे ज्यादा केरल में 19 मामले, जबकि महाराष्ट्र में 14 मामले सामने आए हैं.  ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.