महाराष्ट्र के राजनीतिक गलियारों में इन दिनों काफी हलचल चल रही है. इस बीच गुरुवार को उद्धव ठाकरे ने सीएम पद की शपथ ली. शपथ लेने के साथ ठाकरे परिवार में सीएप पद की शपथ लेने वाले वह पहले राजनेता बन गए हैं. इसके साथ ही शिवाजी पार्क से महाराष्ट्र में एक नए राजनीतिक युग की शुरुआत भी हो गई.

मराठी में ली शपथ

उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनने की शपथ मराठी में ली. जिसके बाद उन्होंने घुटनों के बल झुककर वहां मौजूद लोगों को प्रणाम किया. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा शपथ दिलाने के बाद वह महाराष्ट्र के 18 वें मुख्यमंत्री बन गए.

राज ठाकरे भी आए नजर

शपथ कार्यक्रम के दौरान उद्धव ठाकरे के भाई और एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे, एनसीपी नेता अजित पवार, कांग्रेस नेता अहमद पटेल, एनसीपी नेता प्रफुल पटेल दिखाई दिए. साथ ही साथ उद्योगपति मुकेश अंबानी अपने परिवार के साथ शपथ ग्रहण में शामिल होने पहुंचे थे. बताया जा रहा है कि उद्धव ठाकरे ने अपने इस शपथ कार्यक्रम के लिए कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी को शामिल होना का न्योता भेजा था. लेकिन दोनों ने नेताओं यहां मौजूद रहने पर अपनी असमर्थता जताई

जुटे हजारों दर्शन

उद्धव ठाकरे का लोगों का समर्थन कितना मिला हुआ है इस बात का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि जब वह सीएम पद की शपथ ले रहे थे, उस वक्त हजारों की संख्या में भीड़ इकट्ठा हो रखी थी. उद्धव ठाकरे की सीएम पद की सपथ लेने के साक्षी हजारों लोग बने. इस दौरान किसी भी परिस्थित से निपटने के लिए पुलिसकर्मी भी तैनात दिखे. जानकारी के अनुसार सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए दो हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा