अमित शाह का ऐलान

यूं तो बिहार में विधानसभा चुनाव साल के अंत में होंगे लेकिन इस मामले में राजनीति रुख अभी से देखने को मिल रहा है. ऐसे में अब NDA नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी. यह सब गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है.  बिहार के वैशाली जिले में संशोधित नागरिकता कानून के समर्थन में आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मैं यह ऐलान कर सभी अफवाहों पर विराम लगाना चाहता हूं कि बिहार में अगला विधानसभा चुनाव नीतीश कुमार के नेतृत्व में लड़ा जाएगा.

‘नीतीश कुमार के नेतृत्व में लड़ा जाएगा चुनाव’

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बयान के बाद अब उन तमाम संभावनाओं पर विराम लग गया है जिनमें यह माना जा रहा था कि बीजेपी नीतीश कुमार से अलग हटकर चुनाव लड़ने पर विचार कर रही है.

विपक्ष पर वार

अपने संबोधन के दौरान अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी और लालू प्रसाद संशोधित नागरिकता कानून पर लोगों को गुमराह करना बंद करें और इस कानून की वजह से किसी की नागरिकता नहीं छीनी जा रही है. शाह ने आरोप लगाया कि विपक्षी दलों ने सीएए विरोधी दंगे करवाए, जिसकी वजह से भाजपा को उनके नापाक इरादों के बारे में लोगों को बताने के लिए देशभर में रैलियां करनी पड़ीं.

‘सीएए का मकसद मदद करना’

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि सीएए का मकसद उन लोगों की मदद करना है जिनकी आंखों के सामने उनकी महिलाओं से बलात्कार किया गया, उनकी संपत्तियां छीन ली गई और उनके पूजा स्थलों को अपवित्र किया गया जिसके बाद वह भारत आए.

उन्होंने आरोप लगाया कि जिन लोगों ने कुछ साल पहले जेएनयू में भारत विरोधी नारे लगाए थे उन्हें नरेंद्र मोदी ने जेल भेज दिया लेकिन केजरीवाल ने उनके खिलाफ मुकदमा शुरू करने से इनकार कर दिया. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.