मजदूरों पर सियासत

कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है. लॉकडाउन के कारण सैकड़ों मजदूरों पर संकट मंडरा रहा है. बात पश्चिम बंगाल की हो तो यहां फंसे मजदूरों को लेकर सियासत भी अपने चरम पर है. इस बीच महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि रेल मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल में 7 ट्रेनों के संचालन की इजाजत मांगी है लेकिन अब तक राज्य सरकार ने इजाजत नहीं दी है. देवेंद्र फडणवीस ने ममता बनर्जी से अपील की है राज्य सरकार जल्द से जल्द ट्रेन के परिवहन की इजाजत दे, जिससे प्रवासी मजदूरों को वापस पैदल न घर लौटना पड़े.

देवेंद्र फडणवीस की अपील

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार उन्होंने महाराष्ट्र के भी नेताओं से बातचीत की है. बीजेपी के दिग्गज नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि ‘मैं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता दीदी से अपील करता हूं जितनी जल्दी हो सके इजाजत दें, जिससे प्रवासी मजदूरों को पैदल अपने गृह राज्य वापस न लौटना पड़े. मैं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और अन्य महा विकास अघाड़ी के नेताओं से मांग करता हूं, दीदी से बात करें और इजाजत लें’. गौरतलब है कि लगातार बढ़ रहे लॉकडाउन के चलते प्रवासी मजदूरों का दूसरे राज्यों में टिकना मुश्किल हो रहा है. तमाम मुश्किलों के चलते न तो पर्याप्त ट्रेनें चल रही हैं न ही बसों को इजाजत मिल रही है. ऐसे में मजदूर पैदल लौटने को मजबूर हो रहे हैं. मजदूरों के साथ पूरा-पूरा परिवार है. छोटे-छोटे बच्चों को पीठ पर लादकर लोग पैदल चल रहे हैं.

गृहमंत्री ने उठाए सवाल

ऐसे में अगर ट्रेनों चलाने की परमिशन मिले तो शायद मुश्किल कम हो जाए. हालांकि प्रवासी मजदूरों के मुद्दे पर केंद्र सरकार और तृणमूल कांग्रेस आमने-सामने हैं. इससे पहले प्रवासी मजदूरों को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की ममता सरकार की चुप्पी पर सवाल उठाया था.

खबरों की मानें तो अमित शाह ने ममता सरकार से पूछा था कि वह पश्चिम बंगाल के प्रवासी मजदूरों के मुद्दे पर चुप क्यों है. गृह मंत्री अमित शाह ने इस संबंध में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को पत्र लिखा था. अमित शाह ने पूछा था कि प्रवासी मजदूरों पर ममता बनर्जी चुप क्यों हैं? दूसरे राज्यों में फंसे बंगाल के मजदूरों की ट्रेन से वापसी क्यों नहीं हो रही है. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.