हिंसा मामले में कांग्रेस की प्रेस कॉन्फ्रेंस

इन दिनों दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा के मामले पर बवाल मचा हुआ है. दिल्ली के साथ देश के कई हिस्सों में इस हिंसा की आग देखी जा रही है. हिंसा खिलाफ एक तरफ जहां छात्रों का प्रदर्शन जारी है तो दूसरी इस मामले में राजनीति भी अपनी चरम पर पहुंच गई है. इस मामले में कांग्रेस की तरफ से सरकार को घेरा गया है. पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने जेएनयू में हुई हिंसा के मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि इस हिंसा के पीछे गृहमंत्री-HRD मंत्री हैं.

जयराम रमेश का वार

जेएनयू में हिंसा के बाद मचे बवाल पर कांग्रेस की तरफ कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा कि ‘जिन नकाबपोश लोगों ने कैंपस में हमला किया था, उन्हें तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए’. इस दौरान उन्होंने मांग की कि यूनिवर्सिटी के वीसी को तुरंत त्याग पत्र देना चाहिए.

पीएम मोदी पर वार

हिंसा मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए जयराम रमेश ने कहा कि ‘PM 2.0 आज PM 2.5 से अधिक खतरनाक है’. वही हिंसा मामले में JNU के छात्रों ने दिल्ली में मार्च निकाला. ये मार्च वीसी के इस्तीफे की मांग, हिंसा करने वालों पर एक्शन की मांग के लिए किया गया. हालांकि दिल्ली पुलिस ने जब छात्रों को इस मार्च की इजाजत नहीं दी तो छात्रों को बस में बैठाकर मंडी हाउस ले जाया गया.

‘देश के सांसद ही नहीं जा सकते’

साथ ही साथ जयराम रमेश ने केंद्र सरकार की सहमति से जम्मू-कश्मीर गए विदेशी प्रतिनिधिमंडल को लेकर कहा कि ‘हमारे नेताओं को वहां पर जाने की अनुमति नहीं है. अपने देश के सांसद वहां पर नहीं जा सकते हैं, लेकिन अंतरराष्ट्रीय डेलिगेशन को भेजा जा रहा है’.

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जयराम रमेश ने कहा कि ‘हमारी मांग है कि सभी को वहां जाने की अनुमति मिले, हमारी पार्टी से गुलाम नबी आजाद वहां पर जाना चाहते हैं’.

‘सिर्फ बांटने की राजनीति हो रही है’

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ‘देश में अर्थव्यवस्था की हालत बहुत खराब है, सिर्फ बांटने की राजनीति हो रही है. जीडीपी सही मायने में 5% से भी कम है, 42 साल में सबसे ख़राब दौर से अर्थव्यवस्था गुजर रही है और आने वाले दिनों में स्थिति नाजुक रहने वाली है’. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा