इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जादू हर तरफ छाया हुआ है. पीएम मोदी ने ह्यूस्टर में ऐतिहासिक कार्यक्रम ‘हाउडी मोदी’ में शिरकत की जिसे लोगों द्वारा काफी पसंद किया गया. उनके भाषण को दुनिया भर में सुना गया. जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र को संबोधित करने के लिए न्यूयॉर्क पहुंचे. इस दौरान पीएम मोदी ने जलवायु परिवर्तन के मुद्दे को लेकर यूएनएसजी के शिखर सम्मेलन को संबोधित भी किया.

पानी बचाने पर बात

यहां अपने भाषण के शुरुआत में पीएम मोदी ने पानी बचाने के प्रयास के बारे में बात की. अपने संबोधन के दौरान में पीएम मोदी ने कहा कि मार्गदर्शक सिद्धांत हमारा रहा है. इसलिए भारत यहां सिर्फ इस गंभीर मुद्दे पर बात करने के लिए नहीं है, बल्कि एक व्यावहारिक दृष्टिकोण भी प्रस्तुत कर रहा है. उन्होंने कहा कि हमारा मानना है कि एक टन भाषण से ज्यादा जरूरी है सही अभ्यास. भारत में हम 2022 तक अपनी अक्षय ऊर्जा क्षमता को 175 गीगावॉट तक बढ़ाने जा रहे हैं.

बांटे गए गैस कनेक्शन- पीएम मोदी

अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने परिवहन क्षेत्र में ई मोबिलिटी को बढ़ावा देने की बात की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत पेट्रोल और डीजल में मिश्रित जैव ईंधन को बढ़ाने के लिए भी काम कर रहा है. हमने 11.5 करोड़ परिवारों को खाना पकाने के लिए गैस कनेक्शन दिए हैं.

शुरू किया जल जीवन मिशन

विदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कहा गया कि अगर हम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने कार्यों के बारे में बात करते हैं, तो लगभग 80 देश हमारी अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन पहल में शामिल हो गए हैं. पीएम ने कहा मुझे खुशी है कि भारत और स्वीडन अन्य भागीदारों के साथ उद्योग परिवर्तन ट्रैक शुरू कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमने जल संरक्षण, वर्षा जल संचयन, और जल संसाधनों के विकास के लिए जल जीवन मिशन शुरू किया है. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा