कुछ वक्त पहले पाकिस्तान की एक महिला ने प्रियंका चोपड़ा के एक सोशल स्टेटस की वजह से उनके यूनिसेफ की गुडविल एंबेसडर की पोस्ट को लेकर सवाल किया था. इस कड़ी में अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की कैबिनेट में मानवाधिकार मंत्री डॉ शिरीन एम मजारी ने यूनिसेफ के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर को खत लिखा है. उनका खत बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा को यूएन की गुडविल अंबेसडर फॉर पीस के पद से हटाने की मांग को लेकर है.

प्रियंका को पद से हटाने की मांग

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की कैबिनेट में मानव अधिकार मंत्री डॉक्टर शिरीन मजारी ने जो खत लिखा है उसमें उन्होंने लिखा कि ‘आप ने प्रियंका चोपड़ा को यूएन की गुडविल एंबेसडर बनाया है. भारत के हिस्से वाले कश्मीर में जो कुछ हुआ वह मोदी सरकार के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों का उल्लंघन करने की वजह से हुआ है’. खत में उन्होंने लिखा है कि ‘भारत के हिस्से वाले कश्मीर में भारतीय सैनिक महिलाओं और बच्चों पर पैलेट गन चला रहे हैं. नैतिक सफाई, नक्सलवादी, फासीवादी और नरसंहार को लेकर बीजेपी सरकार पूरी तरह से नाजियों के  कदम पर चल रही है’.

प्रियंका पर लगाए आरोप

उन्होंने लिखा कि ‘प्रियंका चोपड़ा ने सार्वजनिक तौर पर भारत सरकार की मौजूदा स्थिति को एंडोर्स किया है. इतना ही नहीं एक्ट्रेस ने भारत के रक्षा मंत्री द्वारा पाकिस्तान को दी गई न्यूक्लियर की धमकी का सपोर्ट किया है’.

लेटर में लिखा है कि ‘यह सभी शांति और सद्भाव के सिद्धांतों के खिलाफ है. कश्मीर पर अंतरराष्ट्रीय संधियों का उल्लंघन करने को लेकर मोदी सरकार को प्रियंका चोपड़ा समर्थन दे रही हैं. यह सब प्रियंका को यूएन में दिए गए पद पर उनकी विश्वसनीयता को कम करता है. अगर प्रियंका को जल्द से जल्द इस पद से नहीं हटाया गया तो यह वैश्विक स्तर पर यूएन गुडविल अंबेसडर को ही हास्यास्पद बना देगा’. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा