पॉपुलर वीडियो ऐप TikTok से बैन हटा लिया गया है. मद्रास हाई कोर्ट ने इस चीनी ऐप से बैन हटा लिया है. Tik Tok की तरफ से अरविंद दातर ने कोर्ट में ये कहा की किसी भी ऐसी व्यवस्था को माना जा सकता जिसमें न्याय ना हो लेकिन वो वैध हों. उन्होंने कहा की यूजर्स के राइट्स की सुरक्षा जरुरी है.

आपको जानकर हैरानी होगी की भारत में रोक के बाद टिक टॉक को हर रोज़ लगभग 5 लाख डॉलर का नुकसान हो रहा है. चीन की ये कंपनी पेइचिंग में स्थित है जिसने दुनिया के कॉमन पीपल को अपना कला को दिखाने का मौका दिया. लेकिन कुछ यूजर्स ने इसका गलत फायदा उठाते हुए गलत तरह के कन्टेंट का इस्तेमाल किया जिसके बाद टिक टॉक को बैन करने की मांग की गई थी.

बता दें की Tik Tok पर बैन लगने के बाद इस ऐप को गूगल प्ले स्टोर और ऐपल ऐप स्टोर से हटा लिया था. जिसके बाद टिक टॉक को भी भारी नुकसान झेलना पड़ा और इसी भरपाई के लिए कंपनी 250 कर्मचारियों को निकालने का विचार कर रही थी. इस ऐप पर दुनिया भर के लोग छोटे छोटे वीडियो बनाकर शेयर करते हैं. कुछ तो बहुत ही फेमस हो गए और अब सेलीब्रिटी बन चुके हैं.

Tik Tok में वीडियो बनाने के साथ साथ स्पेशल इफेक्ट्स भी दिए गए हैं. साथ ही अलग अलग फिलटर भी दिए हुए हैं. भारत में ये ऐप आज की तारीख में करोड़ो यूजर्स द्वारा यूज़ किया जा रहा है. 3 करोड़ यूजर्स सिर्फ भारत से हैं जबकि 1 अरब यूजर्स दुनियाभर से हैं.