कांग्रेस की हालत इन दिनों खराब चल रही है. कांग्रेस में लगातार इस्तीफों का दौर जारी है. ऐसे में राहुल गांधी के इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस में खलबली मची हुई है. जिसके बाद अब कांग्रेस पूर्व राष्ट्रीय महासचिव जनार्दन द्विवेदी का बड़ा बयान सामने आया है. जनार्दन द्विवेदी ने कहा कि कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाम को फाइनल करने के लिए कार्य समिति की बैठक बुलानी चाहिए.

‘राहुल गांधी को करना चाहिए था कमेटी का गठन’

जनार्दन द्विवेदी अनुसार अभी यह तक पता नहीं चल पाया है कि कौन सी कोर्डिनेशन कमेटी किससे बात कर रही है और किससे सुझाव ले रही है. द्विवेदी के अनुसार राहुल गांधी को पद से इस्तीफा देने से पहले एक कमेटी का गठन करना चाहिए था.

‘पार्टी की हालत देख कर होती है पीड़ा’

जनार्दन द्विवेदी के अनुसार जिस संगठन के लिए उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी लगा दी उसकी हालत देखकर उन्हें पीड़ा होती है. द्विवेदी के अनुसार पार्टी की हार का कारण कही बाहर नहीं बल्कि पार्टी के अंदर ही है.

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव के अनुसार पार्टी में कई बार ऐसी कई बातें हुई हैं जिनसे वह सहमत नहीं थे इसके लिए उन्होंने पार्टी के नेतृत्व से भी बात की थी. द्विवेदी के अनुसार आर्थिक आरक्षण के मामले में भी उन्होंने पार्टी नेतृत्व से कहा था कि वह उनसे सहमत नहीं हैं.

जनार्दन द्विवेदी ने स्वेच्छा से ली थी रिटायरमेंट

आपको बता दें कि साल 2018 में जनार्दन द्विवेदी ने स्वेच्छा से रिटायरमेंट ली थी. जनार्दन द्विवेदी को सोनिया और राहुल गांधी का काफी करीबी माना जाता है. जनार्दन द्विवेदी ने कांग्रेस के पांच अध्यक्षों इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, नरसिम्हा राव और सोनिया गांधी के साथ किया किया है.

जारी है इस्तीफों का दौर

कांग्रेस में इन दिनों इस्तीफों का दौर जारी है. अभी हाल ही में कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया और पार्टी की मुंबई इकाई के अध्यक्ष मिलिंद एम. देवड़ा ने अपने पद से इस्तीफा दिया है. राहुल गांधी ने भी हाल ही में लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा दिया था. वही कर्नाटक में भी कांग्रेस-जेडीएस के गठबंधन के 11 विधायकों ने इस्तीफा दिया है. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा