स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया. लाल किले से प्रधानमंत्री ने देश को संबोधित किया और इस दौरान उन्होंने कई मुद्दों पर बात की. प्रधानमंत्री ने अनुच्छेद 370, 35a और तीन तलाक को हटाने का जिक्र करते हुए भविष्य की योजनाओं का खाका भी सामने रखा.

‘अब महत्वाकांक्षाएं बदल रही है’

प्रधानमंत्री ने कहा कि महत्वाकांक्षाएं बदल रही है और अब लोग सिर्फ रेलवे स्टेशन के बनाने के प्रस्ताव से ही खुश नहीं होते. वह पूछते हैं कि वंदे भारत एक्सप्रेस कब चलाई जाएगी. प्रधानमंत्री ने कहा कि लोग अच्छा रेलवे स्टेशन या बस अड्डे से ही खुश नहीं होते हैं, पूछते हैं कि हवाई अड्डा कब आएगा.

सेना को लेकर बड़ा ऐलान

लाल किले से संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 100 लाख करोड़ रुपए की आधारभूत संरचना के विकास पर खर्च किए जाएंगे. प्रधानमंत्री मोदी ने सेना में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बनाने का भी ऐलान किया. उन्होंने कहा कि इससे सेना में समाजस्य  बढ़ेगा. सेना को लेकर पिछले कुछ सालों से अब तक का सबसे बड़ा ऐलान यही है. वही पीएम मोदी ने आम लोगों से जुड़ी हुई भी कई चीजों का ऐलान किया.

‘स्थानीय चीजों को दें बढ़ावा’

प्रधानमंत्री ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि हमें स्थानीय चीजों का इस्तेमाल करना चाहिए. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के हर जिले में एक छोटे देश के बराबर ऊर्जा होती है. हर जिले की अपनी खासियत है. कहीं हैंडीक्राफ्ट बनता है तो कहीं मिठाईयां बनती है. हमें इन उत्पादों का इस्तेमाल कर इन्हें ग्लोबल मार्केट में ले जाना चाहिए. इससे रोजगार के अवसर पैदा होंगे.

डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा

प्रधानमंत्री ने डिजिटल भारत अभियान पर जोर देते हुए कहा कि हमें डिजिटल पेमेंट की आदत डालनी चाहिए. उन्होंने कहा कि अक्सर दुकानों में लिखा होता है आज नगद, कल उधार. लेकिन अब दुकानों में लिखा होना चाहिए डिजिटल पेमेंट को हां, नकदी को ना.

जनसंख्या पर की बात

प्रधानमंत्री ने इस दौरान जनसंख्या पर भी बात की. भारत की जनसंख्या विष्फोट का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने उन लोगों को भी देशभक्त बताया जो छोटा परिवार रखते हैं. उन्होंने कहा कि समाज में एक छोटा वर्ग भी ऐसा है जो घर में शिशु के आने से पहले यह भी सोचते हैं कि क्या वह उसकी आशाओं और अपेक्षाओं को पूरा कर पाएंगे या नहीं, उसे बेहतर शिक्षा दे पाएंगे या नहीं. वह उन लोगों की तरह नहीं होते हैं जो बच्चे पैदा करने के बाद उनको उनके नसीब पर छोड़ देते हैं. उन्होंने कहा कि सीमित परिवार रखने वाले भी देशभक्त कहलाते हैं.

‘प्लास्टिक को कहें ना’

प्लास्टिक से हो रहे पर्यावरण के नुकसान का भी जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से अपील की कि वे 2 अक्टूबर से प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद कर दें. गिफ्ट देने के लिए जूट के थैले का इस्तेमाल करें. पीएम ने कहा कि इसके लिए दुकानदारों से भी अपील की जा रही है.

पर्यटन को बढ़ावा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत में पर्यटन उद्योग की अपार संभावनाएं हैं. लेकिन पिछले 70 सालों में इस देश में ज्यादा काम नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि पर्यटन से रोजगार की संभावनाएं बढ़ती हैं और अर्थव्यवस्था भी मजबूत होती है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील करते हुए कहा कि 2022 तक 15 पर्यटन स्थलों पर जाएं. उन्होंने कहा कि इसमें दिक्कतें आएंगी. हो सकता है कि आप जहां जाएं वहां पर होटल ना हो पानी न हो लेकिन फिर भी जाएं. ’ ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा