इन दिनों भारत और पाकिस्तान के बीच काफी तनातनी का माहौल चल रहा है. कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करने क बाद पाकिस्तान बौखला सा गया है. इस बीच विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बड़ा बयान दिया है. विदेश मंत्री ने कहा है कि पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है. मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ‘पीओके पर हमारा रुख रहा है और हमेशा रहेगा कि यह भारत का हिस्सा है और हम उम्मीद करते हैं कि एक दिन यह हमारे भौतिक अधिकार क्षेत्र में होगा’.

भारत का आंतरिक मामला

मीडिया को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा है कि ‘अनुच्छेद 370 द्विपक्षीय मुद्दा नहीं है, यह हमारा आंतरिक मुद्दा है. उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है अंतरराष्ट्रीय समुदाय अनुच्छेद 370 पर हमारी स्थिति को समझता है. विदेश मंत्री ने कहा कि एक सीमा के बाद इस बात की चिंता करने की जरूरत नहीं है कि कश्मीर पर लोग क्या कहेंगे’.

विदेश मंत्री से पाकिस्तान द्वारा कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने के प्रयास और कश्मीर में मानवाधिकारों के विषय को कुछ विदेशी नेताओं द्वारा उठाने के बारे में पूछा गया था. उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि देश अपनी छवि बनाते हैं.

सिर्फ पीओके पर होगी बात

आपको बता दें कि केंद्र सरकार का कहना रहा है कि पाकिस्तान से बातचीत सिर्फ पीओके पर होगी और कश्मीर पर नहीं होगी. ऐसा बयान उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह आदि भी पहले दे चुके हैं.

भारत की स्थिति मजबूत

विदेश मंत्री ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि सीमा पार से होने वाले आतंकवाद, अनुच्छेद 370 को हटाये जाने जैसे मुद्दे पर भारत के पक्ष से वैश्विक जगत को अवगत करवाया गया. उन्होंने कहा कि ‘अपने आंतरिक मामलों में भारत की स्थिति मजबूत रही है और मजबूत रहेगी. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.