पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का शनिवार को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में निधन हो गया. लंबे समय से बीमार चल रहे थे. एम्स ने एक बयान जारी कर कहा है कि वह बेहद दुख के साथ सूचित कर रहे हैं कि 24 अगस्त को 12:07 पर माननीय सांसद अरुण जेटली हमारे बीच नहीं रहे. अरुण जेटली को 9 अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था. एम्स के वरिष्ठ डॉक्टर उनका इलाज कर रहे थे. अरुण जेटली का जन्म 28 दिसंबर 1952 को हुआ था.

नहीं रहे अरुण जेटली

शनिवार को अरुण जेटली से मिलने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन भी एम्स पहुंचे थे. इस कड़ी में अरुण जेटली के निधन की खबर सुनने के बाद गृहमंत्री अमित शाह भी हैदराबाद से वापस लौट रहे हैं. 

लंबे समय से थे बीमार

आपको बता दें कि सेहत संबंधी समस्याओं के कारण अरुण जेटली ने इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा था मई महीने में अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर यह कहा था कि स्वास्थ्य कारणों से वे नई सरकार में कोई जिम्मेदारी नहीं लेना चाहते हैं जेटली की तरफ से कहा गया था कि 18 महीनों से वैसे संबंधी समस्याओं से जूझ रहे हैं जिस कारण भी नई सरकार में कोई पद नहीं लेना चाहते हैं.

9 अगस्त को हुए थे भर्ती

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली को 9 अगस्त को एम्स में भर्ती करवाया गया था तब उन्हें सांस लेने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था इसमें उन्हें आईसीयू में रखा गया था पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गृह मंत्री अमित शाह रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत कई बड़े नेता अरुण जेटली को देखने के लिए इसी साल मई महीने में अरुण जेटली की किडनी को ट्रांसप्लांट क्या गया था यहां तक कि कैंसर का इलाज करवाने के लिए पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली अमेरिका भी गए थे. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.