इसरो चीफ के सिवन का कहना है कि चंद्रयान-2 के लैंडर से संपर्क नहीं हो पा रहा है. ऑर्बिटर में लगे 8 उपकरण अपना काम ठीक से कर रहे हैं और ऑर्बिटर काम कर रहा है. जिसके बाद अब इसरो प्राथमिकता से गगनयान मिशन पर फोकस करेगा.


चंद्रयान 2 से नहीं हुआ संपर्क

भुवनेश्वर में इसरो प्रमुख के सिवन ने कहा कि चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर ठीक ढंग से काम कर रहा है. उन्होंने कहा कि ऑर्बिटर में 8 उपकरण लगे हुए हैं और ऑर्बिटर का इस तरह से डिजाइन किया गया है कि वह 1 साल तक काम कर सकता है. लेकिन ईंधन के अच्छे इस्तेमाल के कारण ऑर्बिटर अब 7.5 साल तक काम करेगा. इसरो प्रमुख ने कहा कि चंद्रयान 2 के ऑर्बिटर में लगे 8 उपकरण के काम निर्धारित हैं.

चंद्रयान 2 में लगे हैं 8 उपकरण

इसरो प्रमुख ने कहा कि लैंडर से संपर्क नहीं हो पा रहा है हमारे वैज्ञानिक फिर भी लगातार प्रयास में जुटे हुए हैं. कोशिश ये समझने की कि जा रही है कि विक्रम के साथ आखिर दिक्कत क्या आई थी. जिसके बाद अगले कदम पर बात की जाएगी. इसरो के अगले अभियान गगनयान की चर्चा करते हुए कहा कि अब इसरो की सर्वोच्च प्राथमिकता मिशन गगनयान पर काम करने की है. के सिवन ने कहा कि वैज्ञानिक गगनयान मिशन पर पूरे समर्पण भाव से काम कर रहे हैं.

टूट गया था संपर्क

आपको बता दें कि चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम के चंद्रमा की तरफ बढ़ने के दौरान संपर्क टूट गया था. जिसके बाद सबके चेहरे पर मायूसी छा गई थी. लेकिन हम भारतीय हैं हार तो मान ही नहीं सकते. संपर्क टूटने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसरो के कंट्रोल सेंटर से देश को संबोधित किया था. इस दौरान पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाने का काम किया था. पीएम मोदी ने कहा कि हिम्मत न हारें. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा