केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के मुख्य विरोधी बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को खत्म करने को एक साहसिक फैसला बताया है. बसपा मुखिया मायावती ने नरेंद्र मोदी सरकार को इसके लिए बधाई भी दी है.

BJP पर हमलावर रही हैं मायावती

हालांकि उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के गठबंधन पर लोकसभा चुनाव 2019 में उतरी बसपा मुखिया मायावती को तगड़ा झटका लगा था. जिसके बाद वे लगातार टि्वटर पर नरेंद्र मोदी तथा उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमलावर थी. लेकिन मायावती ने मंगलवार को दो ट्वीट में कश्मीर पर सरकार के फैसले को सही बताया है.

मायावती -इसके दूरगामी परिणाम होंगे

मायावती ने ट्वीट किया कि ‘संविधान की ’सामाजिक, आर्थिक व राजनैतिक न्याय’ की मंशा को देश भर में लागू करने हेतु जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा सम्बंधी धारा 370 व 35ए को हटाने की माँग काफी लम्बे समय से थी। अब बीएसपी उम्मीद करती है कि इस सम्बंध में केन्द्र सरकार के फैसले का सही लाभ वहाँ के लोगों को आगे मिलेगा।’

मायावती ने दूसरा ट्वीट करते हुए कहा कि ‘इसी प्रकार, जम्मू-कश्मीर के लेह-लद्दाख को अलग से केन्द्र शासित क्षेत्र घोषित किए जाने से ख़ासकर वहाँ के बौद्ध समुदाय के लोगों की बहुत पुरानी माँग अब पूरी हुई है, जिसका भी बीएसपी स्वागत करती है। इससे पूरे देश में विशेषकर बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर के बौद्ध अनुयाई काफी खुश हैं।’

सतीश मिश्रा ने किया था समर्थन

आपको बता दें कि राज्यसभा में केंद्र सरकार के अनुच्छेद 370 के खंड एक को छोड़कर सभी खंड रद्द करने की सिफारिश का सतीश मिश्रा ने राज्यसभा में समर्थन किया था. सतीश मिश्रा ने कहा था कि अब अन्य राज्यों की तरह जम्मू-कश्मीर में भी दलित और पिछड़े वर्ग के समुदायों को आरक्षण का लाभ मिलेगा. इस लिए उनकी पार्टी इसका समर्थन करती है. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा