बढ़ सकता है लॉकडाउन !

देश में इन दिनों कोरोना के कारण लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है. लेकिन अब खबर है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के कारण लागू लॉकडाउन 14 अप्रैल के बाद भी जारी रह सकता है, इस बात के संकेत खुद प्रदेश सरकार के अडिशनल चीफ सेक्रेटरी अवनीश अवस्थी ने दिए हैं. मीडिया में चल रही खबरों की मानें तो अवनीश अवस्थी ने कहा है कि अगर कोरोना वायरस का एक भी मामला प्रदेश में रहेगा तो लॉकडाउन नहीं खोला जाएगा.

305 पहुंचा आंकड़ा

कोरोना वायरस से प्रभावित उत्तर प्रदेश में लोगों की बात की जाए तो आंकड़ा 305 तक पहुंच गया है. खबरों की मानें तो अवनीश अवस्थी ने बताया कि पिछले 24 घंटे में प्रदेश में कुल 27 मामले सामने आए हैं. इसमें से 21 लोग तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं. उत्तर प्रदेश में अब कोरोना वायरस के कुल 305 मामले हो चुके हैं. अब तक सामने आए कुल मामलों में 159 मरीज तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं. स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में अवनीश अवस्थी ने बताया कि ‘यूपी में टेस्टिंग लैब का विस्तार हो रहा है. मेडिकल इमरजेंसी की तैयारी है और 14 नई टेस्टिंग लैब बनाने को कहा गया है. ये लैब कोविड फंड से तैयार की जाएंगी और सभी 75 जिलों में कलेक्शन टेस्ट सेंटर बनाए जा रहे हैं’.

सीएम योगी ने की अपील 

इस दौरान 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन खोले जाने के बारे में अवनीश अवस्थी ने कहा कि ‘लॉकडाउन खोलने पर अभी बोलना प्रीमच्योर होगा. लॉकडाउन खोलने में अभी समय लगेगा. 14 अप्रैल के बाद भी लॉकडाउन की संभावना है. अगर प्रदेश में कोरोना का एक भी केस रहेगा तो लॉकडाउन नहीं खुलेगा। जीवन सबसे पहले है’. इससे पहले प्रदेश में कोरोना संक्रमण को रोकने संबंधी प्रयासों के क्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को प्रदेशभर के धर्मगुरुओं से बात की थी. खबरों की मानें तो अवनीश अवस्थी के मुताबिक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी के साथ बातचीत में धर्मगुरुओं ने भी कहा है कि अभी लॉकडाउन खोलना ठीक नहीं है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने धर्मगुरुओं को भरोसा दिलाया था कि किसी की धार्मिक भावनाओं को आहत नहीं किया जाएगा.  ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.