दीया मिर्जा का ट्वीट

देश में इन दिनों नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विरोध पूरे देश में बवाल मचा हुआ है. विरोध को देखते हुए देश के कई हिस्सों में धारा 144 लागू कर दी गई. है. वही सोशल मीडिया पर भी आम लोगों से लेकर कलाकारों के अलग अलग रिएक्शन आ रहे हैं. ऐसे में बॉलीवुड एक्टर संजय खान की बेटी और जूलरी डिजाइनर फराह खान ने भी ट्वीट करके नागरिकता संशोधन कानून को लेकर आवाज उठाई है.

फराह खान ने किया रिट्वीट

वही इसके बाद हमेशा सुर्खियों में रहने वाली फराह खान ने उनके ट्वीट को रिट्वीट करते हुए अपनी बात की है. नागरिकता संशोधन कानून पर निशाना साधते हुए बॉलीवुड एक्ट्रेस दीया मिर्जा ने ट्वीट किया कि ‘मेरी मां हिंदू है और मेरे बायोलॉजिकल पिता ईसाई हैं, जबकि मेरे एडॉप्टेड फादर एक मुसलमान हैं. सभी दस्तावेजों में मेरा धर्म का स्टेटस खाली रहता है. क्या धर्म बताएगा कि मै भारतीय हूं? ऐसा कभी नहीं हुआ और उम्मीद करती हूं कि न ही कभी होगा. एक भारत…’

वही दूसरी तरफ दीया मिर्जा के इसी ट्वीट को रिट्वीट करते हुए फराह खान ने ट्वीट किया कि ‘मेरे पिता मुस्लिम हैं, मां पारसी है. मेरे भाई-बहनों ने हिंदुओं से शादी की है. मेरे बच्चों के भाई बहन मुस्लिम, हिंदी, ईसाई हैं. हम सभी धर्मों के त्योहार मनाते हैं, हम मानवता का जश्न मनाते हैं. सभी फॉर्म में मैं खुद को भारतीय लिखती हूं. धर्म कभी भी मुझे परिभाषित नहीं करेगा’.

शबाना आजमी ने शेयर की वीडियो

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर इन दिनों बवाल मचा हुआ है. देश के कई हिस्सों से इस मामले पर प्रदर्शन की खबरें सामने आ रही हैं. वही बॉलीवुड कलाकारों की तरफ से इस मामले में अगल ही प्रतिक्रिया सामने आ रही हैं. इस कड़ी में बॉलीवुड एक्ट्रेस शबाना आजमी ने वीडियो शेयर की है. इस वीडियो के जरिए उन्होंने कर नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन को लेकर अपना समर्थन जताया है.

शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अपील

मीडिया में चल रही खबरों की मानें तो शबाना आजमी को यह वीडियो इसलिए शेयर करना पड़ा क्योंकि वह इस समय देश में नहीं हैं. इस तरह शबाना आजामी ने देश में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन को शांतिपूर्ण ढंग से अंजाम देने की अपील की है. शबाना आजमी का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.

क्या है वीडियो में?

इस वीडियो में शबाना आजमी ने इस वीडियो में कहा है कि ‘मैं इस वक्त हिंदुस्तान में नहीं हूं इसलिए मुझे बहुत अफसोस है, कि जो विरोध और प्रदर्शन हो रहे हैं, CAA और NRC को लेकर मैं उनमें वहां मौजूदा होकर शामिल नहीं हो पा रही हूं. लेकिन मैं पूरी तरह से आप लोगों के साथ हूं और मैं यह इल्तिजा करती हूं कि आप ज्यादा से ज्यादा तादाद में इस मुहिम को आगे बढ़ाएं, लेकिन बिना किसी हिंसा के. यह बहुत जरूरी है. मैं अपनी बात खत्म करती हूं कैफी आजमी के एक शेर सेः  आज की रात बहुत गर्म हवा चलती है, आज की रात न फुटपाथ पे नींद आएगी, सब उठो, मैं भी उठूं, तुम भी उठो, तुम भी उठो, कोई खिड़की इसी दीवार में खुल जाएगी’. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा