43 लोगों की मौत

राजधानी दिल्ली के रानी झांसी रोड पर तड़के तड़के अनाज मंडी में भीषण आग लग गई. आग इतनी ज्यादा भयानक थी कि इसमें 43 लोगों की मौत की पुष्टी की गई है. साथ ही 15 लोगों की हालत नाजुक बताई जा रही है. जबकि कई लोग गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे हैं.

शॉर्ट सर्किट से लगी आग

आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बतायी जा रही है. आग लगने की खबर के बाद आनन फानन में मौके पर दमकल की गाड़ियां पहुंची और बिना किसी देरी के आग पर काबू पाने की प्रक्रिया शुरू की गई. आग इतनी भयानक थी कि आग पर काबू पाने के लिए दमकल की 30 से ज्यादा गाड़ियां पहुंची. हालांकि देखते ही देखते आग बढ़ती ही चली गई. फिलहाल फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पा लिया है. इलाके में लोगों का रेस्क्यू किया जा रहा है.

कब लगी आग ?

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार घटना सुबह 5 बजे की है. मंडी में एक तीन मंजिला बेकरी है. बेकरी की ऊपरी मंजिल पर आग लगी थी. जिसके बाद आग ने पूरी इमारत को ही अपनी चपेट में ले लिया. आग के चलते पूरा इलाका धुआं-धुआं हो गया. इलाके के काफी कन्जस्टेड होने के चलते भी आग ज्यादा फैली.

पीएन ने जताया दुख

घटना के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत कई नेताओं ने ट्वीट कर हादसे पर दुख जताया है. साथ ही साथ दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने उच्च स्तरीय जांच की मांग की.

मुआवजे का ऐलान

दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और अनुराग ठाकुर ने मौके पर जाकर घटना के संबंध में जानकारी ली और मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया. ऐसे में घायलों का हाल जानने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एलएनजेपी अस्पताल पहुंचे. इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घटना की मजिस्ट्रियल जांच का ऐलान किया है.

घायलों को पहुंचाया अस्पताल

घटना के बाद घायल लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया. एलएनजेपी अस्पताल में ही कुल 49 लोगों को लाया गया है. बताया जा रहा है कि इनमें से 34 की मौत हो गई, जबकि 15 लोगों का उपचार चल रहा है. इनकी हालत नाजुक बताई जा रही है. मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार कई लोग 50 फीसदी से ज्यादा जल चुके हैं. साथ ही घायलों को 4 अलग-अलग अस्पताल में भर्ती कराया गया है. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा