मनोज तिवारी का ‘आप’ पर वार

निर्भया गैंगरेप केस को लेकर अब राजनीति भी अपने चरम पर पहुंच गई है. ऐसे में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने केजरीवाल सरकार पर इस मुद्दे को आधार बनाकर निशाना साधा है. मनोज तिवारी ने कहा कि ‘दो साल तक गुनहगारों को सजा के बारे में बताना था फिर दिल्ली सरकार ने क्यों नहीं बताया. यह मामला जेल विभाग का है और जेल विभाग दिल्ली सरकार के पास है’.

‘जानबूझकर गनहगारों को बचाने की कोशिश’

मनोज तिवारी ने कहा कि ‘आम आदमी पार्टी की सरकार ऐसा करती है उपर से दिल्ली के उप मुख्यमंत्री कहते हैं कि हमारे पास दिल्ली पुलिस होती तो सजा दिला देते’. मनोज तिवारी ने कहा कि ‘अब तो स्पष्ट हो चुका है जो काम केजरीवाल सरकार का था, उन्होंने नहीं किया. केजरीवाल सरकार ने जानबूझकर गुनहगारों को बचाने की कोशिश की. ये सवाल राजनीति का नहीं, बल्कि अगर आप बलात्कारियों को भी बचाने की कोशिश करते हैं’.

‘राजनीतिक इतिहास में ऐसा नहीं हुआ’

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि ‘पूरे देश के राजनीतिक इतिहास में किसी पार्टी के द्वारा इस प्रकार के गुनहगारों की सजा की टलवाने का और फिर उन्हें बचाने का कोई दूसरा उदाहरण नहीं मिलता. इससे पूरा देश स्तब्ध है’. सरकार पर निशाना साधते वक्त मनोज तिवारी ने निर्भया मामले में वकील इंदिरा जयसिंह के बयान पर भी प्रतिक्रिया दी. इस मामले में उन्होंने कहा कि ‘इंदिरा जयसिंह के बयान को सुनकर पूरा देश स्तब्ध है. उसके बाद निर्भया की मां का जो स्टेटमेंट आया, उसमें उनके दर्द को हम समझते हैं’.

जयसिंह के बयान का मुद्दा

आपको बता दें कि जयसिंह ने 17 जनवरी को एक ट्वीट में कहा था कि वह निर्भया की मां की पीड़ा को पूरी तरह से समझती हैं लेकिन वह उनसे सोनिया गांधी की तरह का उदाहरण पेश करने का आग्रह करती हैं जिन्होंने नलिनी को माफ कर दिया था और कहा था कि वह उसके लिए फांसी की सजा नहीं चाहतीं. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.