चंद्रशेखर को भेजा तिहाड़

पुलिस की गिरफ्त में आ रखे भीर आर्मी चीफ चंद्रशेखर को तिहाड़ जेल भेज दिया गया. वह बिना इजाजत प्रोटेस्ट मार्च निकालने के कारण गिरफ्तार गिया गया था. वही तिहाड़ भेजने से पहले भीम आर्मी चीफ ने तीस हजारी कोर्ट में बेल की अपील की थी. लेकिन दिल्ली पुलिस की तरफ से भी 14 दिनों की न्यायिक हिरासत की मांग की गई थी. जिसके बाद कोर्ट ने बेल की अर्जी खारिज कर दी और चंद्रशेखर को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजने का फैसला सुनाया गया.

क्या था मामला ?

दरअसल भीम आर्मी चीफ को उस वक्त गिरफ्तार किया गया था जब वे जामा मस्जिद से मार्च की अगुवाई कर रहे थे. दिल्ली पुलिस ने शनिवार तड़के जामा मस्जिद के बाहर से उन्हें गिरफ्तार किया गया था. भीम आर्मी चीफ पर नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान आगजनी और तोड़फोड़ करने का आरोप लगा था. वही दूसरी तऱफ शुक्रवार को हुए विरोध प्रदर्शन और हिंसा में शामिल होने के लिए 20 अन्य उपद्रवियों को भी गिरफ्तार किया गया था.

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी की तरफ से इस मामले में कहा गया है कि ‘हमने आगजनी, तोड़फोड़ और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के लिए भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर समेत 21 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया है. आजाद भीड़ का नेतृत्व कर रहे थे’.

नमाज के बाद विरोध

बताया जा रहा है कि भीम आर्मी का विरोध शुक्रवार की नमाज के बाद दोपहर एक बजे के बाद शुरू हुआ था. जामा मस्जिद में चल रहे विरोध प्रदर्शन में आजाद ने भी हिस्सा लिया था. हालांकि जब पुलिस ने उन्हें हिरासत में लेने की कोशिश की, तो वह अपने समर्थकों के बीच ओझल हो गए. इसके बाद उनका और पुलिस का आपस में लुका-छिपी का खेल चलता रहा. अब पुलिस ने आखिरकार आजाद को गिरफ्तार कर लिया है. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा