हिंसक हुआ प्रदर्शन

देश में इन दिनों नागरिकता संशोधन कानून को लेकर काफी ज्यादा बवाल मचा हुआ है. इस मुद्दे पर हो रही तरह तरह की राजनीति के बीच प्रदर्शन ने हिंसक मोड़ ले लिया. इस कड़ी में मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार उत्तर प्रदेश के दो दर्जन से ज्यादा शहरों में हिंसक हो गया.

प्रदर्शन के दौरान मौत

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हो रहे प्रदर्शन के बीच उग्र भीड़ ने कई वाहन फूंके और पुलिस पर पथराव किया जिसके बाद आमने सामने की फायरिंग हुई. फायरिंग में मेरठ, फिरोज़ाबाद, मुजफ्फरनगर में एक-एक मौत हो गई, जबकि बिजनौर में दो लोगों की मौत की खबर है. इसके अलावा संभल में भी एक की मौत हो गई. हालांकि बिजनौर और संभल में हुई मौत की पुष्टि नहीं हो सकी है जबकि दर्जनों पुलिसकर्मी जख्मी बताए जा रहे हैं.

कई गंभीर रूप से घायल

कानपुर में पुलिस और उग्र भीड़ की फायरिंग में सात लोग गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे हैं. वही प्रदेश में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई. ऐसे में लोगों को खासा दिक्कतों का सामना करना पड़ा. प्रदर्शन को देखते हुए सरकार ने जिलों में सतर्कता बढ़ा दी. मीडिया में चल रही खबरों की मानें तो सरकार के प्रवक्ता ने कहा है कि हर जिले में पीएसी व रैपिड एक्शन फोर्स की अतिरिक्त टुकड़ियां तैनात करने का फैसला किया गया है.

आपको बता दें कि इससे पहले लखनऊ में हुई जबरदस्त हिंसा के बाद शुक्रवार को पूरे प्रदेश में हाई अलर्ट कर दिया गया था. ऐसे में जुमे की नमाज़ के मद्देनज़र संवेदनशील इलाकों में भारी पुलिस बल तैनात किया गया था. पुलिस अधिकारियों के मुताबिक जुमे की नमाज़ तो शांति पूर्ण ढंग से हुई लेकिन बाद में भीड़ धरना-प्रदर्शन पर अड़ गई. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा