बयान को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

महाराष्ट्र चुनाव के बाद एक बार फिर से सावरकर का मुद्दा सामने आया है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा दिए गये सावरकर पर बयान के बाद राजनीति अपने चरम पर पहुंच गई है. महाराष्ट्र में गठबंधन की साथी शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने राहुल गांधी के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. संजय राउत ने राहुल गांधी को सावरकर पर थोड़ा पढ़ने की नसीहत भी दे डाली.

मायावती का वार

सावरकर पर उठी राजनीति में अब मायावती आ गई हैं. बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस पर निशाना साधा है. मायावती ने रविवार को ट्वीट कर कहा है कि ‘शिवसेना अपने मूल एजेंडे पर अभी भी कायम है, इसलिए इन्होंने नागरिकता संशोधन बिल पर केंद्र सरकार का साथ दिया और अब सावरकर को लेकर भी इनको कांग्रेस का रवैया बर्दाश्त नहीं है. फिर भी कांग्रेस पार्टी महाराष्ट्र सरकार में शिवसेना के साथ अभी भी बनी हुई है, तो यह सब कांग्रेस का दोहरा चरित्र नहीं है तो और क्या है?’.

‘नहीं मांगूगा माफी’

इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली में बीजेपी की तरफ से की गई माफी की मांग पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि उनका नाम ‘राहुल सावरकर’ नहीं है, उनका नाम राहुल गांधी है और वह सच बोलने के लिए माफी नहीं मांगेंगे. उन्होंने कहा कि माफी (प्रधानमंत्री) नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को इस देश से मांगनी चाहिए.

‘भारत बचाओ रैली’

राहुल गांधी ने रामलीला मैदान में कांग्रेस की ओर से आयोजित ‘भारत बचाओ रैली’ में उपस्थित विशाल जनसमूह को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा, कल संसद में भाजपा के लोगों ने कहा कि आप अपने भाषण के लिए माफी मांगिए. लेकिन मैं आपको बता दूं कि मेरा नाम ‘राहुल सावरकर’ नहीं है, मेरा नाम ‘राहुल गांधी’ है. मर जाऊंगा, मगर माफी नहीं मांगूंगा. सच बोलने के लिए मैं माफी नहीं मांगूंगा. कांग्रेस का कोई व्यक्ति माफी नहीं मांगेगा. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा