कौन सोच सकता था की अपनी भारी आवाज़ के चलते क्लास क्वायर के लिए रिजेक्ट कर दी जाने वाली लड़की आगे जा कर एक दिन म्यूजिक इंडस्ट्री की ऐसी आवाज़ बन जाएगी जो न सिर्फ अपने आप में अलग बल्कि आसमान को चीर कर खुदा तक पहुंचने वाली बन जाएगी  ?

उषा उत्थप, एक बेहतरीन सिंगर और परफ़ॉर्मर. ये कहना बिलकुल गलत नहीं है की उषा की पावरफुल प्रजेंस स्टेज पर आग लगा देती है. आज उषा उथुप अपना 71वां  जन्मदिन मन रही हैं.

उषा उथुप म्यूजिक इंडस्ट्री का जाना माना नाम.. इंडि पॉप सिंगर ,और कंपोजर हैं ये तो सभी जानते हैं पर उषा एक बेहतरीन परफ़ॉर्मर हैं ये तभी पता लगता है जब वो स्टेज पर आग लगा देती हैं. वह साठ-सत्तर के दशक की मशहूर प्लेबैक गायिका हैं.  वह हिंदी सिनेमा में हरी ओम हरी, रम्बा हो, हरे रमा हरे कृष्णा और फिल्म सात खून माफ़ के गाने  ‘डार्लिंग ‘ गाने के लिए फेमस हैं . इस गाने के लिए उन्हें फिल्मफेयर का बेस्ट सिंगर अवार्ड भी मिला है.

पृष्ठभूमि

उषा चेन्नई के तमिल ब्राह्मण परिवार से ताल्लुक रखती हैं ,उषा छः बेहेन भाई हैं. उनकी  बहनें उमा पोचा, इंदिरा श्रीनिवासन और माया सामी गायिका हैं और समी सिस्टर्स के नाम से गाती हैं.

पहला बड़ा ब्रेक

20 साल की उम्र में उथुप ने साड़ी पहन कर चेन्नई के एक छोटे से नाइटक्लब में गाना शुरू किया . नाइटक्लब में पहले परफॉरमेंस में ही वाहवाही के बाद उषा ने मुंबई और कोलकाता के नाइटक्लब में गाना शुरू किया .  इसके बाद दिल्ली के होटल ओबेरॉय में परफॉर्म करते वक्त नवकेतन फिल्म्स की टीम ने इन्हे देखा और आशा भोसले के साथ गाना दम मारो दम गाने का ऑफर दिया। हालाँकि बाद में कुछ कारणों के चलते उन्हें इस गाने की सिर्फ अंग्रेजी लाइन्स गाने का ही मौका मिल पाया . लेकिन इसके साथ ही उषा की बॉलीवुड में एन्ट्री  हो चुकी थी.   

उत्थुप ने 1970 और 1980 के दशक में संगीतकार आरडी बर्मन और बप्पी लाहिड़ी के लिए कई गाने गाए. इसके अलावा, इन्होंने कई  बॉलीवुड फिल्मों में भी  प्लेबैक सिंगर के रूप में काम किया. उन्होंने अपना पहला एल्बम लुइस बैंक्स के साथ रिकॉर्ड किया जिसके लिए उन्हें 3500 रुपए का भुगतान किया गया था तब से उन्होंने कई एल्बम रिकॉर्ड किए हैं.

 सिंगर के साथ साथ उषा एक पावरफुल परफ़ॉर्मर भी हैं. उन्होंने दुनिया भर में शो किये हैं . उषा को अपने धुआंधार स्टेज परफॉरमेंस के लिए भी जाना जाता है. इन्हें अब तक कई पुरूस्कार मिल चुके हैं  जिनमें बेहतरीन  संगीत के लिए राजीव गांधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार, अंतर्राष्ट्रीय शांति के लिए महिला शिरोमणी पुरस्कार और उनकी  उपलब्धि के लिए चैनल-[V] पुरस्कार शामिल हैं.

फैशन

न सिर्फ अपनी धुआंधार आवाज़ और अंदाज़ बल्कि उषा अपनी कांजीवरम साड़ी , ढेर सारी चूड़ियों और बड़ी सी बिंदी को फैशन में लेन के लिए भी जानी जाती हैं. अपने इसी अंदाज़ के साथ उन्होंने जेम्स बांड की फिल्म का टाइटल ट्रैक sky fall  गाया वो भी sky fall in saari  के नाम से.

जन्मदिन पर बधाई

उषा न सिर्फ एक दमदार सिंगर बल्कि ज़बरदस्त स्टेज परफ़ॉर्मर होने के साथ साथ एक फैशन आइकॉन भी हैं. आज उनके जन्मदिन पर ऐसे बिंदास परफ़ॉर्मर को ढेरों बधाइयां