पीएम मोदी को बताया ‘झूठा’

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर मचे बवाल के बीच कांग्रेस और बीजेपी के बीच आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है. इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने डिटेंशन कैंप के दावों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को झूठा करार दिया, अब भाजपा की ओर से जवाब दिया गया है.

हरकत में आयी बीजेपी

बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने अब 2011 की असम सरकार की प्रेस रिलीज ट्वीट की है, जिसमें 362 अवैध घुसपैठियों को तीन डिटेंशन कैंप में भेजने की बात कही गई है. इसके अलावा अमित मालवीय ने ट्वीट कर लिखा है कि अगर राहुल गांधी बिना वीज़ा के विदेश की यात्रा करेंगे, तो उन्हें भी वहां डिटेंशन सेंटर में डाल दिया जाएगा.

अमित मालवीय का वार

राहुल गांधी के ट्वीट के बाद हरकत में आयी बीजेपी की तरफ से अमित मालवीय ने अपने ट्वीट में लिखा कि ‘राहुल गांधी समय-समय पर विदेश जाते रहते हैं. एक बार उन्हें वीज़ा लिमिट से ज्यादा वहां पर रुकना चाहिए और देखना चाहिए कि किस तरह उनकी पहचान की जाती है और फिर वापस भेजने से पहले कैसे उन्हें डिटेंशन सेंटर में डाला जाता है. तब वह सीख पाएंगे कि कैसे दूसरे देश अवैध घुसपैठियों के साथ डील करते हैं’.

प्रेस रिलीज जारी की

इसके अलावा अमित मालवीय ने एक प्रेस रिलीज़ भी जारी की. अमित मालवीय ने लिखा कि 2011 में असम की कांग्रेस सरकार ने एक प्रेस रिलीज़ जारी की थी, जिसमें 362 अवैध घुसपैठियों को डिटेंशन कैंप में भेजने की बात कही गई थी. सिर्फ इसलिए कि भारत ने आपको नकार दिया है, अब क्या आप नफरत से इसे नष्ट करने में जुट जाएंगे? बता दें कि 2011 में असम में कांग्रेस की सरकार थी और तरुण गोगोई राज्य के मुख्यमंत्री थे.

क्या है मामला

दरअसल मामला यह है कि राहुल गांधी ने गुरुवार सुबह असम के गोवालपारा में बन रहे डिटेंशन सेंटर की वीडियो ट्वीट की. साथ ही राहुल गांधी ने लिखा कि RSS का प्रधानमंत्री भारत माता से झूठ बोलता है. अमित मालवीय ने राहुल गांधी के अलावा पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को भी जवाब दिया. बीजेपी नेता ने लिखा कि पी. चिदंबरम जी, आपकी याददाश्त कमजोर हो रही है. लेकिन मैं आपकी यहां मदद करता हूं, साल 2012 में कहा था कि NPR की प्रक्रिया सिर्फ नागरिकों को रेजिडेंट कार्ड देने के लिए है, जो कि सीधा नागरिकता कार्ड की ओर बढ़ता है’. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.

प्रदीप शर्मा