सीएम केजरीवाल ने कहा

राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना धर्म देखकर नहीं होता और प्लाज्मा भी धर्म देखकर जान नहीं बचाएगा. सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना लॉकडाउन फिलहाल दिल्ली में 3 मई तक लागू रहेगा बस उन्हीं दुकानों को छूट होगी जिन्हें केंद्र सरकार ने दी है.

धर्म देखकर कोरोना नहीं होता

सीएम केजरीवाल ने बताया कि लॉकडाउन आगे बढ़ाने पर फैसला बाद में लिया जाएगा. सीएम केजरीवाल ने यहां प्लाज्मा थेरपी पर बात करते हुए कहा कि यह धर्म देखकर किसी की जान नहीं बचाएगा, इसलिए सबको एकजुट रहकर कोरोना से लड़ाई लड़नी है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ‘हर धर्म के लोग प्लाज्मा देकर एक दूसरे की जान बचाना चाहते हैं. मेरे मन में विचार आया कि हो सकता है कि किसी मुसलमान का प्लाज्मा हिंदू की जान बचाए. हो सकता है किसी हिंदू का प्लाज्मा मुसलमान की जान बचाए’.

प्लाज्मा भी नहीं देखेगा धर्म

सीएम केजरीवाल ने कहा कि ‘भगवान ने जब धरती बनाई थी तब इंसान बनाए थे. सबकी दो आंख दी, एक जैसा शरीर दिया. खून भी सबका लाल है. उन्होंने कोई दीवार पैदा नहीं की. ये सब हमने की है. लेकिन ध्यान रहे कि कोरोना होता है तो सबको होता है. इसी तरह प्लाज्मा धर्म देखकर नहीं बचाएगा. अगर हमारे देश के सब लोग मिलकर एक साथ रहेंगे तो हमें को कोई नहीं हरा सकेगा’.

‘नतीजे अच्छे रहे’

सीएम ने कहा कि अगर ऐसा हुआ तो दुनिया को हमारे सामने झुकना होगा. केजरीवाल ने इससे पहले बताया कि प्लाज्मा थेरपी के नतीजे अबतक अच्छे हैं. एक आईसीयू में भर्ती मरीज जल्द डिस्चार्ज हो सकता है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में किसी तरह की अतिरिक्त छूट अभी नहीं दी जाएगी. बस केंद्र सरकार के ऑर्डर के मुताबिक दुकानें खुलेंगी. साथ ही साथ उन्होंने बताया कि कोरोना के सातवें हफ्ते में 850 केस आए थे और 21 की जान गई थी. वहीं आठवें हफ्ते में 622 केस आए और 9 लोगों की जान गई. सातवें हफ्ते में 260 लोग ठीक हुए थे वहीं 8वें हफ्ते में 580 लोग ठीक हुए. ऐसी रोचक जानकारी के लिए पढ़ें हमारे लेटेस्ट आर्टिकल. अधिक जानकारी के लिए विजिट करें हमारा फेसबुक पेज.