निजामुद्दीन इलाके से 200 लोग

जानलेवा कोरोना वायरस से पूरी दुनिया इन दिनों परेशान चल रही है. इस वायरस के खिलाफ पूरी दुनिया अपने अपने तरीके से जंग लड़ रही है. भारत में भी कोरोना वारयरस के कारण लॉकडाउन लगाया गया है. सरकार सभी तरह से कोरोना से लड़ने का प्रयास कर रही है. लेकिन इस बीच दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके से 200 लोगों को अस्पताल में कोरोना जांच के लिए ले जाया गया है.

करीब 100 लोग विदेशी

मीडिया में चल रही खबरों की मानें तो कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरों के बीच दक्षिण पूर्वी दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात के मरकज से दस से अधिक देशों के नागरिकों समेत 200 लोगों को यहां के अलग अलग अस्पतालों में जांच के लिए ले जाया गया है. खबर है कि कोरोना वायरस की जांच के लिए जिन लोगों को जांच के लिए ले जाया गया है उनमें बांग्लादेश, श्रीलंका, अफगानिस्तान, मलेशिया, सऊदी अरब, इंग्लैंड और चीन के करीब 100 विदेशी नागरिक शामिल हैं. खबर है कि मरकज में करीब 600 लोग थे जिनमें से फिलहाल 200 लोगों को कोरोना संक्रमण जांच के लिए अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया गया है और मरकज के आसपास के इलाके को पूरी तरह सील कर दिया गया है. हालांकि जैसे ये खबर सामने आई कि निजामुद्दीन इलाके में कुछ लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, उसके बाद दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग की टीम भी वहीं पर पहुंची गई.

अलग अलग अस्पताल ले जाया गया

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार पुलिस पूरे इलाके की ड्रोन से निगरानी कर रही है. पुलिस लगातार पेट्रोलिंग भी कर रही है, जिससे यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई बाहर न घूम रहा हो. मरकज से कुछ ही दूर पर प्रसिद्ध सूफी निजामुद्दीन औलिया की मजार है जहां पर बड़ी संख्या में जायरीन यहां आते हैं लेकिन इन दिनों दरगाह पूरी तरह बंद है.